A joint media project of the global news agency Inter Press Service (IPS) and the lay Buddhist network Soka Gakkai International (SGI) aimed to promote a vision of global citizenship which has the potentiality to confront the global challenges calling for global solutions, by providing in-depth news and analyses from around the world.

Please note that this website is part of a project that has been successfully concluded on 31 March 2016.

Please visit our project: SDGs for All

Hindi

अफ्रीका में जीवन की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने का एक रास्ता रिश्वत

जट्टा वुल्फ

बर्लिन (आईडीएन) - एक आदमी ने स्कूल जा रही एक एक नौ वर्षीया लड़की के साथ बलात्कार किया और उसे एचआईवी से संक्रमित कर दिया। जिम्बाब्वे पुलिस ने पहले तो हमलावर को गिरफ्तार कर लिया लेकिन फिर उसे गुपचुप रिहा कर दिया। कारण: उसने रिश्वत दी थी।

एक तुर्की वैरागी जो पश्चिमी और मुस्लिम विश्व के बीच का पुल बना है

फेबियोला ओर्टिज़

पेनसिल्वेनिया (आईडीएन) - एक स्वतंत्र वैश्विक और परस्पर नागरिकता समाज के भीतर एक अहिंसक और शांतिपूर्ण संस्कृति को बढ़ावा देने का मार्ग बन सकती है। यह एक जमीनी स्तर के आंदोलन का मुख्य उद्देश्य है जो शिक्षा को बढ़ाने, सार्वभौमिक मूल्यों, आपसी संवाद और लोकतंत्र को बढ़ावा की वकालत करता है।

एक तुर्की वैरागी जो पश्चिमी और मुस्लिम विश्व के बीच का पुल बना है

फेबियोला ओर्टिज़

पेनसिल्वेनिया (आईडीएन) - एक स्वतंत्र वैश्विक और परस्पर नागरिकता समाज के भीतर एक अहिंसक और शांतिपूर्ण संस्कृति को बढ़ावा देने का मार्ग बन सकती है। यह एक जमीनी स्तर के आंदोलन का मुख्य उद्देश्य है जो शिक्षा को बढ़ाने, सार्वभौमिक मूल्यों, आपसी संवाद और लोकतंत्र को बढ़ावा की वकालत करता है।

सतत विकास के लिए वैश्विक नागरिकता शिक्षा का उपयोग

लेखक ए.डी. मैकेंजी

पेरिस (आईडीएन) - सितंबर में सतत विकास के लक्ष्यों को अपनाने के बाद से, वैश्विक नागरिकता शिक्षा पर सतत विकास में और युवाओं के "हिंसक चरमपंथियों 'की श्रेणियों में शामिल होने से रोकने दोनों में इसके द्वारा निभायी जाने वाली भूमिका पर अधिक से अधिक ध्यान दिया जाने लगा है।

"कई देश तेजी से हिंसक उग्रवाद से अवगत होते जा रहे हैं और वे उनके बारे में चिंतित हैं, और (यूनेस्को) का दृष्टिकोण वैश्विक नागरिकता शिक्षा के माध्यम से सदस्य देशों को सहायता प्रदान करने का है क्योंकि यह मूल्यों पर जोर डालता है" - यह बात स्वास्थ्य एवं वैश्विक नागरिकता शिक्षा के लिए यूनेस्को के सेक्शन के प्रमुख, क्रिस्टोफर कैसल ने कही है।

ग्लोबल नागरिकता शिक्षा शांतिपूर्ण समाज के निर्माण के लिए युवाओं के प्रयासों को मजबूती प्रदान करती है

लेखिका कान्या डी'अल्मीडा

संयुक्त राष्ट्र (आईडीएन) - 2015 के मध्य तक, 10 और 24 वर्ष की उम्र के बीच के युवाओं की संख्या 1.8 अरब पर पहुंच गई है जो दुनिया में युवाओं की अब तक की सबसे बड़ी आबादी का प्रतिनिधित्व करती है।

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, इस जनसांख्यिकी का एक बड़ा हिस्सा वैश्विक दक्षिण में स्थित है जहां बच्चे और किशोर मिलकर दुनिया के 48 सबसे कम विकसित देशों (एलडीसी) की संयुक्त आबादी का एक बड़ा हिस्सा बनते हैं।

विवेकशील सैनिक चुप्पी तोड़ रहे हैं

लेखक मेल फ्रिक्बर्ग

हेब्रोन, वेस्ट बैंक (आईडीएन) - दक्षिणी वेस्ट बैंक में हेब्रोन का प्राचीन बाइबिल संबंधी शहर यहूदी, ईसाई और इस्लाम धर्म का पवित्र स्थल है और यह ऐतिहासिक, पुरातात्विक एवं धार्मिक खजानों से भरपूर है।

'सभी के लिए सम्मान' सिखाने की यूएन की योजना का उद्देश्य भेदभाव से लड़ना है

ए.डी. मैकेंजी

पेरिस (आईडीएन) - "दुनिया को अब जिस चीज की जरूरत है, वह है प्यार" 1965 में बर्ट-बैकारक द्वारा लिखे इस गीत में एक भावुक संदेश है। लेकिन प्यार सिखाना अगर असंभव नहीं तो मुश्किल अवश्य है, इसलिए शिक्षा विशेषज्ञ एक अन्य समाधान लेकर आए हैं: सभी के लिए सम्मान सिखाना।

वैश्विक नागरिकता के लिए शिक्षा का बढ़ता महत्व

जया रामचंद्रन द्वारा

न्यूयार्क (IDN) - जब संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने सितंबर 2012 में वैश्विक शिक्षा सर्वप्रथम नामक पहल की शुरुआत की थी, तब "वैश्विक नागरिकता को बढ़ावा देना" उनकी तीन प्राथमिकताओं में से एक था; अन्य दो प्राथमिकताएं थीं "हर बच्चे को स्कूल में भर्ती करना" और "शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार"।

बान ने कहा, "शिक्षा का अर्थ महज रोजगार के बाजार में प्रविष्टि होने से कहीं अधिक है। इसमें एक संवहनीय भविष्य और बेहतर दुनिया को आकार देने की शक्ति है। शिक्षा नीतियों को शांति, आपसी सम्मान और पर्यावरण की देखभाल को बढ़ावा देना चाहिए।"

बच्चों के मीडिया का व्यवसायीकरण वैश्विक नागरिकता में बाधा बन रहा है

कलिंग सेनेविरत्ने द्वारा

कुआलालम्पुर (आईडीएन) - विशेषज्ञों के अनुसार, बच्चों के मीडिया, विशेष रूप से टेलीविजन, का अत्यधिक व्यावसायीकरण वैश्विक नागरिकता के लिए आवश्यक शिक्षा और क्षमता निर्माण तथा बच्चों के बीच दुनिया की विविधता के प्रति जागरूकता बढ़ाने के प्रयासों में बाधा डाल रहा है।

कुआलालंपुर में 'बच्चों के लिए मीडिया' पर हाल ही में आयोजित विश्व शिखर सम्मेलन में वक्ताओं ने 'ऑस्ट्रेलियन चिल्ड्रेंस टेलीविजन फाउंडेशन' के पूर्व निदेशक डॉ पेट्रीसिया एडगर के साथ सहमति व्यक्त की कि बच्चों के अधिकांश कार्यक्रम व्यावसायिक रूप से प्रेरित हैं और उचित शिक्षा प्रदान नहीं करते हैं।

एक बौद्ध नन (मठवासिन) महिला सशक्तिकरण के लिए आदर्श बनी

कलिंगा सेनेविराटने* द्वारा| आईडीएन-इनडेप्थ न्यूज़फीचर

सिंगापुर (आईडीएन) – महिलाओं को संघ (बुद्ध के शिष्यों का वर्ग) में विधिवत शामिल करके, गौतम बुद्ध ने 2500 वर्ष पहले भारत में महिलाओं को पुरूषों के बराबर सम्मान प्रदान किया था। लेकिन आज अधिकांश एशियाई बौद्ध देशों में ननें धम्मा (बुद्ध के उपदेश) की विश्वसनीय शिक्षिकाओं के रूप में मान्यता पाने के लिए एक कठिन लड़ाई लड़ रही हैं। संभव है एक नेपाली नन धम्मा का एक प्रकार से गायन करके अनचाहे इस बोध में परिवर्तन ला रही है।